बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार भजन लिरिक्स

जय बालाजी जय बालाजी जय बालाजी
बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार
जय श्री राम जय हनुमान जय श्री राम जय हनुमान
बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार।।

वर्णन मैं कैसे करू माया है इनकी आपार
जय श्री राम जय हनुमान जय श्री राम जय हनुमान
होते है दर्शन यहाँ बाला के नित्य चमत्कार
मेहंदीपुर के बालाजी बाते है खुशिया हजार
बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार।।

सर को झुकाउ तुझे दिल में बसाऊ
अब बिन तेरे बाला कही चैन ना पाउ
आये बाला दर है जोड़ी अपनी तये है
गुजरे चरणों में तेरे अब तो शामो सहर है
बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार
वर्णन मैं कैसे करू माया है इनकी आपार।।

बालाजी हमपे करदो मेहरबानी
तेरे दर पे संवारती सबकी जिंदगानी
प्रेत राज भैरव साथ हो जहां पे
पाप काट जाते जहां पे सुख होते वह पे

बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार
जय श्री राम जय हनुमान जय श्री राम जय हनुमान
वर्णन मैं कैसे करू माया है इनकी आपार
होते है इनके नित्य चमत्कार ।।

मेहंदीपुर के बालाजी बाते है खुशिया हजार
बालाजी के दरबार आते है लाखों नर नार
वर्णन मैं कैसे करू माया है इनकी आपार
जय जय बालाजी जय बालाजी ।।

Leave a Comment