लगाले प्रेम ईश्वर से अगर तू मोक्ष चाहता है भजन लिरिक्स

लगाले प्रेम ईश्वर से,
अगर तू मोक्ष चाहता है..

रचा उसने जगत सारा,
करे वो पालना सब की,
करे वो पालना सब की,
वही मालिक है दुनिया का,
पिता माता विधाता है,
पिता माता विधाता है,
लगा ले प्रेम ईश्वर से,
अगर तू मोक्ष चाहता है.

नहीं पाताल के अंदर,
नहीं आकाश के ऊपर,
नहीं आकाश के ऊपर,
सदा पास है तेरे,
कहाँ ढ़ूंढ़न को जाता है,
कहाँ ढ़ूंढ़न को जाता है,
लगा ले प्रेम ईश्वर से,
अगर तू मोक्ष चाहता है.

करो जप तपन भारी,
रहो जाकर सदा वन में,
रहो जाकर सदा वन में,
बिना सतगुरु की संगत के,
नहीं वो दिल में आता है,
नहीं वो दिल में आता है,
लगा ले प्रेम ईश्वर से,
अगर तू मोक्ष चाहता है..

पड़े जो शरण में उनकी,
छोड़ दुनिया की लालच को,
छोड़ दुनिया की लालच को,
ब्रम्हानंद के निश्चय से,
परम सुख धाम पाता है,
परम सुख धाम पाता है,
लगा ले प्रेम ईश्वर से,
अगर तू मोक्ष चाहता है.

lagale prem ishvar se agar tu moksh chahata hai bhajan Lyrics

lagale prem ishvar se,
agar tu moksh chahata hai..

racha usane jagat sara,
kare vo palana sab ki,
kare vo palana sab ki,
vahi malik hai duniya ka,
pita mata vidhata hai,
pita mata vidhata hai,
laga le prem ishvar se,
agar tu moksh chahata hai.

nahin patal ke andar,
nahin akash ke upar,
nahin akash ke upar,
sada pas hai tere,
kahan dhundhan ko jata hai,
kahan dhundhan ko jata hai,
laga le prem ishvar se,
agar tu moksh chahata hai.

karo jap tapan bhari,
raho jakar sada van mein,
raho jakar sada van mein,
bina sataguru ki sangat ke,
nahin vo dil mein ata hai,
nahin vo dil mein ata hai,
laga le prem ishvar se,
agar tu moksh chahata hai..

pade jo sharan mein unaki,
chhod duniya ki lalach ko,
chhod duniya ki lalach ko,
bramhanand ke nishchay se,
param sukh dham pata hai,
param sukh dham pata hai,
laga le prem ishvar se,
agar tu moksh chahata hai.

कृष्ण भजन लिरिक्स

Leave a Comment