कन्हैया हिंडो गाल्यो रे हरिये बाग भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
वृन्दावन सो वन नहीं, नन्द गांव सो गांव।
राधा सी रानी नहीं, कृष्ण श्याम सो नाम।

कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में ,बाग में।
आई आई रे सावणिया री तीज ,
कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में।

कन्हैया सावण सुरंगो,
प्यारो मास रे , मास रे।
चमके चमके रे आभा में प्यारी बीज ,
कन्हैया सावण सुरंगो ,
प्यारो मास रे।
कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में ,बाग में। टेर।

कन्हैया रिमझिम बरसे रे ,
रूड़ो मेवड़ो ,मेवड़ो।
म्हारी तारा छाई चुनर जावे भीग ,
कन्हैया रिमझिम बरसे रे ,
रूड़ो मेवड़ो।
कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में ,बाग में। टेर।

कन्हैया संग री सहेल्या ,
जोवे बाटडी ,बाटडी।
महासू सासु और जेठाण्या जावे खीझ ,
कन्हैया संग री सहेल्या ,
जोवे बाटडी।
कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में ,बाग में। टेर।

कन्हैया राधा दीवानी ,
थारे नाम री ,नाम री।
म्हारी कंचन जेडी काया जावे रीझ ,
कन्हैया राधा दीवानी ,
थारे नाम री।
कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में ,बाग में। टेर।

कन्हैया प्रेम माली री ,
आ है विनती ,विनती।
थे तो बादिला भगता पर जावो रीझ ,
कन्हैया प्रेम माली री ,
सुणजो विनती।
कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे ,
हरिये बाग़ में ,बाग में। टेर।

prakash mali ke old bhajan bhajan music video song

कन्हैया हिंडो गाल्यो रे हरिये बाग भजन लिरिक्स kanhaiya hindo ghalyo re rajasthani krishna bhajan hindi lyrics
कृष्ण कन्हैया के भजन लिरिक्स
भजन :- कन्हैया हिण्डो घाल्यो रे
गायक :- प्रकाश माली

Leave a Reply