थारा सु मनड़ो लागो रे गोकुल का भोला कान्हा भजन लिरिक्स

। दोहा ।।
कृष्णा थे मत जाणजो, था बिछड्या मोहे चैन।
जैसे ज बिन माछली, प्रभु तड़प रही दिन रैन।

थारा सु मनड़ो लागो रे ,
गोकुल रा भोळा कान्ह।
गोकुल का भोला कान्ह रे ,
मथुरा रा भोळा कान्ह।
थारा सु मनड़ो लागो रे ,
गोकुल रा भोळा कान्ह।

पो फाटी पगडो भयो ,कानुड़ा लाल,
ग्वालिया उचेरी वन में गाय।
जियो जियो रे लाल ,
ग्वालिया उचेरी वन में गाय।
दही रो भरियो वाटको कानुड़ा लाल ,
गुजरिया उपराडे झाला देय।
जियो जियो रे लाल ,
गुजरिया उपराडे झाला देय।
थारा सु मनड़ो लागो रे ,
गोकुल रा भोळा कान्ह। टेर।

पो फाटी पगडो भयो कानुड़ा लाल ,
मालनिया जावे रे बागा मांय।
जियो जियो रे लाल ,
मालनिया जावे रे बागा मांय।
पो फाटी पगडो भयो कानुड़ा लाल ,
लावे लावे हजारी रा फूल।
जियो जियो रे लाल ,
लावे लावे हजारी रा फूल।
थारा सु मनड़ो लागो रे ,
गोकुल रा भोळा कान्ह। टेर।

रेम केरो पालणो कानुड़ा लाल ,
गुजरिया झुलावे झूले श्याम
जियो जियो रे लाल ,
गुजरिया झुलावे झूले श्याम।
पगा बजावे गुंगरा कानुड़ा लाल ,
गुजरिया नचावे नाचे श्याम।
जियो जियो रे लाल ,
गुजरिया झुलावे झूले श्याम।
थारा सु मनड़ो लागो रे ,
गोकुल रा भोळा कान्ह। टेर।

चन्द्रसखी री विनती कानुड़ा लाल ,
साधुडा रो अमरापुर में वास।
जियो जियो म्हारा कान्ह ,
साधुडा रो अमरापुर में वास।
थारा सु मनड़ो लागो रे ,
गोकुल रा भोळा कान्ह। टेर।

chandra sakhi ke bhajan bhajan music video song

थारा सु मनड़ो लागो रे गोकुल का भोला कान्हा भजन लिरिक्स Thara Su Mando Lagyo re krishna bhagwan ke bhajan
श्री कृष्ण के भजन लिखित में
भजन :- थारा सु मनड़ो लागो रे
गायक :- मनोज सारस्वत थांवला

Leave a Reply