मन मेरा सतगुरु आया बंजारा निर्गुणी भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
सतगुरु आवत देखिया, कांधे लाल बन्दुक।
गोली दागी हरी नाम की, तो भाग गया यमदूत।

ऐड़ो ऐड़ो डाव फेर नहीं आवे ,
मिले ना दूजी बारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा।
सतगुरु आया बिणजारा,
मन मेरा धिनगुरु आया बिणजारा।

ज्ञान गुणा री बालद लाया ,
हीरा लाया अपारा।
मुंगी चीज अमोलक लाया ,
ऐसा है दातारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा।
ऐड़ो ऐड़ो डाव फेर नहीं आवे ,
मिले ना दूजी बारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा। टेर। ….

प्रेम भक्ति री गुरु हाट खोल दी ,
लाला मोती जवारा।
गुरु मुखी वे सो सौदा करले ,
भटकत फिरे गीवारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा।
ऐड़ो ऐड़ो डाव फेर नहीं आवे ,
मिले ना दूजी बारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा। टेर। ….

जिन घर साथ संगत नहीं होती ,
जिन घर काल का पसारा।
आठो पहर उनके रेवे उदासी ,
जावे जम के द्वारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा।
ऐड़ो ऐड़ो डाव फेर नहीं आवे ,
मिले ना दूजी बारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा। टेर। ….

जिन घर साथ संगत नित होती ,
संत करे पुकारा।
आठो पोहर सोलवा गावे ,
जावे साहिब के द्वारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा।
ऐड़ो ऐड़ो डाव फेर नहीं आवे ,
मिले ना दूजी बारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा। टेर। ….

साहेब कबीर मिल्या गुरु पूरा ,
बिणज किया अतिभारा।
धर्मीदास दासा के दासा ,
ह्रदय सिरजण हारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा।
ऐड़ो ऐड़ो डाव फेर नहीं आवे ,
मिले ना दूजी बारा।
मन मेरा सतगुरु आया बिणजारा। टेर। ….

सतगुरु जी के निर्गुणी भजन लिरिक्स
भजन :- मेरा सतगुरु आया बिणजारा
गायक :- राजू स्वामी
मन मेरा सतगुरु आया बंजारा निर्गुणी भजन लिरिक्स, mera satguru aaya banjara satguru bhagwan ke nirguni bhajan lyrics

raju swami ke bhajan lyrics

mera satguru aaya banjara satguru bhagwan ke nirguni bhajan lyrics Enlgish

aido aido dav fer nhi aave,
mile naa duji bara.
man mera satguru aaya binjara.

gyan guna ri balad laya,
heera laya apara.
mungi chij amolak laya,
aida hai datara.
man mera satguru aaya binjara..

prem bhakti ri guru haat khol di,
lala moti jawara.
guru mukhi ve so soda karle,
bhatkat fire giwara.
man mera satguru aaya binjara.

jin ghar sath sangat nhi hoti,
jin ghar kal ka pasara.
aatho pahar unke reve udasi,
jave jam ke dwara.
man mera satguru aaya binjara.

jin ghar sath sangat nit hoti,
sant kare pukara.
aatho pohar solwa gave,
jave hasib ke dwara.
man mera satguru aaya binjara.

saheb kabir miliya guru pura,
binaj kiya atibhara.
dharmidas dasa ke dasa,
harday sirjan hara.
man mera satguru aaya binjara.

Leave a Reply