राधा ये नीली पिली साडी पहन भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
राधे तू बड़भागिनी, कौन तपस्या किन।
तीन लोक तारण तिरण, सो है तेरे आधीन।

ए राधा ए ! ए राधा ए।
ए राधा ए लिली पिली साड़ी पहर ,
रास में तू ही तू दिखे रे।
तू ही तू दिखे रे रास में ,
तू ही तू दिखे रे।
ए राधा ए लिली पिली साड़ी पहर ,
रास में तू ही तू दिखे रे।

ए राधा ए ! बंसी बजावे श्याम ,
कुञ्ज में रास रचावे ए।
ए राधा ए ! आवे श्याम री याद ,
जिवडो घणो दुःख पावे ए। २
ए राधा ए ! लिली पिली साड़ी पहर ,
रास में तू ही तू दिखे रे। टेर।

ए राधा ए ! राता नी आवे नींद ,
दिवस मोहे नहीं सुहावे ए।
ए राधा ए ! श्याम गया चितचोर ,
नैण म्हारा जल भर आवे ए । २
ए राधा ए ! लिली पिली साड़ी पहर ,
रास में तू ही तू दिखे रे। टेर।

ए राधा ए ! श्याम बिन सुनो देश ,
मोहन बिन कछु न सुहावे ए।
ए राधा ए ! मोहन बेगो मिलाई ,
चन्द्रसखी यु जश गावे ए। २
ए राधा ए ! लिली पिली साड़ी पहर ,
रास में तू ही तू दिखे रे। टेर।

prakash mali ke bhajan marwadi

राधा ये नीली पिली साडी पहन भजन लिरिक्स radha ye nili pili sadi pehar chandra sakhi ke bhajan lyrics
श्री कृष्ण भजन लिरिक्स
भजन :- ए राधा ये नीली पिली साडी पहर
गायक :- प्रकाश माली

Leave a Reply