रुत आया बोले मोरा जी श्याम बिना जीव दोरा भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
राधे तू बड़भागिनी, कौन तपस्या किन।
तीन लोक तारण तिरण, सो तेरे आधीन।

रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
श्याम बिना जीव दोरा रे ,
म्हारा हरी बिना जीव दोरा रे।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।

उत्तर दिशा सु आई रे बादली ,
पिछम दिशा में घनघोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।

सावण बरस भादवो गरजे ,
नदियाँ लेवे रे हिलोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।

दादुर मोर पपीहा बोले ,
कोयल करत किलोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।

चन्द्रसखी री अरज विनती ,
आप मिल्या जिव सोरा जी।
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा।
रुत आया बोले मोरा जी ,
म्हारा श्याम बिना जीव दोरा। टेर।

chandra sakhi ke bhajan bhajan music video song

रुत आया बोले मोरा जी श्याम बिना जीव दोरा भजन लिरिक्स Rut aaya bole mora re bhajan lyrics
श्री कृष्ण भजन लिरिक्स
भजन :- रुत आया बोले मोरा जी

Leave a Reply