उद्धार करो भगवान तुम्हरी शरण पड़े भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
दुःख में सुमिरन सब करे, सुख में करे न कोय ।
जो सुख में सुमिरन करे, तो दुःख काहे को होय ।

उद्धार करो भगवान ,
तुम्हरी शरण पड़े।
भव पार करो भगवान ,
तुम्हरी शरण पड़े।

पंथ मतों की सुन सुन बातें ,
द्वार तेरे तक पहुंच न पाते।
भटके बीच जहाँन ,
तुम्हरी शरण पड़े।
उद्धार करो भगवान ,
तुम्हरी शरण पड़े।

तू ही श्यामल कृष्ण मुरारी ,
राम तू ही गणपति त्रिपुरारी।
तुम्ही बने हनुमान ,
तुम्हरी शरण पड़े।
उद्धार करो भगवान ,
तुम्हरी शरण पड़े।

कैसे तेरा नाम धियायें ,
कैसे तुम्हरी लगन लगाये।
हृदय जगा दो ज्ञान ,
तुम्हरी शरण पड़े।
उद्धार करो भगवान ,
तुम्हरी शरण पड़े।

ऐसी अन्तर ज्योति जगाना ,
हम दीनों को शरण लगाना।
हे प्रभु दया निधान ,
तुम्हरी शरण पड़े।
उद्धार करो भगवान ,
तुम्हरी शरण पड़े।

हिंदी भजन संग्रह video

उद्धार करो भगवान तुम्हरी शरण पड़े भजन udhar karo bhagwan tumhari sharan pade hindi bhajan in hindi lyrics
भजन इन हिंदी लिरिक्स
भजन :- उद्धार करो भगवान
गायक :- मनहर उधास

Leave a Reply