एक तेरा भरोसा एक तेरा सहारा भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
पर्वत जैसी पीर है ,ह्रदय बहुत अकुलाय।
राधा राधा जपत है ,विरही मन मुरझाय।

एक तेरा भरोसा है ,
एक तेरा सहारा है।
हर बार संभालोगे ,
विश्वास हमारा है।
एक तेरा भरोसा है ,
एक तेरा सहारा हैं।

हैं दूर सफर मेरा ,
मंज़िल ना ठिकाना है।
मंझधार में सोच रहा ,
बस तेरा दीवाना है।
तुम मेरा किनारा हो ,
आधार तुम्हारा है।
हर बार संभालोगे ,
विश्वास हमारा है।
एक तेरा …..

हर और ज़माने में ,
मतलब का ही नाता है।
बिन मतलब के यारी ,
यहाँ कौन निभाता है।
हमको याद तेरा आये ,
हम तुझको बहरा है।
हर बार संभालोगे ,
विश्वास हमारा है।
एक तेरा …..

हैं पीर हिर्दय में और ,
आँखों में तरल होगा।
पूछूंगा कन्हैया से ,
कब जीवन सरल होगा।
हर विपदा में तुमने ,
प्रभु आय संवारा है।
हर बार संभालोगे ,
विश्वास हमारा है।
एक तेरा …..

दिलदार कन्हैया से ,
जो नेह लगा बैठे।
डूबे या संवर जाए ,
इसमें है लगा बैठे।
अब भी सिवा तेरे ,
देखु क्या नजारा में।
हर बार संभालोगे ,
विश्वास हमारा है।

एक तेरा भरोसा है ,
एक तेरा सहारा है।
हर बार संभालोगे ,
विश्वास हमारा है।
एक तेरा भरोसा है ,
एक तेरा सहारा हैं।

deepak gupta bhajan video

एक तेरा भरोसा एक तेरा सहारा ek tera bharosa ek tera sahara krishna hindi bhajan lyrics
हिंदी भजन कृष्ण भगवान के भजन

Leave a Reply