ओम जय गंगा मैया की आरती लिरिक्स | om jai gange mata aarti lyrics

ओम् जय गंगे माता ,
श्री जय गंगे माता ।
जो नर तुझको ध्याता ,
मन वांछित फल पाता ।

चन्द्र सी जोत तुम्हारी ,
जल निर्मल आता ।
शरण पड़े जो तेरी ,
सो नर तर जाता ।
ओम् जय गंगे ….

पुत्र सगर के तारे ,
सब जग को ज्ञाता ।
कृपा दृष्टि तुम्हारी ,
त्रि भुवन सुख दाता ॥
ओम् जय गंगे ….

एक ही बार जो तेरी ,
शरणा गति आता ।
यम की त्रास मिटाकर ,
कर्म गति पाता ।
ओम् जय गंगे ….

आरती मात तुम्हारी ,
जो जन नित गाता ।
दास वही सहज में ,
मुक्ति को पाता ॥
ओम् जय गंगे ….

anuradha paudwal bhajan lyrics

ओम जय गंगा मैया की आरती, om jai gange mata aarti, ganga mata aarti lyrics, गंगा माता की आरती, anuradha paudwal bhajan lyrics
आरती :- ॐ जय गंगे माता
गायिका :- अनुराधा पौडवाल

Leave a Reply