पित्तरो का मन से तू ध्यान धर ले भजन लिरिक्स

पित्तरो का मन से तू ध्यान धर ले भजन लिरिक्स
, Pitron Ka Man Se Tu Dhyan Kar Le Bhajan Lyrics

पितरो का मन से तू ध्यान धर ले भजन लिरिक्स

पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले।

पित्तरो की ज्योति सवाई है ,
करती ये हरदम सहाई है।
ज्योत जला के सुभ काम कर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर
.

कष्टों से हमको बचाते है ,
विपदा का भान कराते है।
पितरो की महिमा बखान कर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

मन से जो इनको ध्याता है ,
सुख सम्पति वो पाता है।
पितरो का नाम सुबह शाम जप ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

देश दिशावर जाओगे ,
सदा इन्हे संग पाओगे।
पितरो का प्यारे गुणगान कर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,
कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

Pitar Dev Ke Bhajan Lyrics

Pitron Ka Man Se Tu Dhyan Kar Le

pittro ka man se tu dhyan dhar le,
kul ke devo ka samman kar le.

pittro ko jyoti sawai hai,
karati ye hardam sahai hai.
jyot jala ke subh kam kar le,
kul ke devo ka samman kar le.
pittro ka man se tu dhyan dhar le,
kul ke devo ka samman kar le.

kashto se hamko bachate hai,
vipada ka bhan karate hai.
pitro ki mahima bakhan kar le,
kul ke devo ka samman kar le.
pittro ka man se tu dhyan dhar le,
kul ke devo ka samman kar le.

man se jo enko dhyata hai,
subh sampati vo pata hai.
pitro ka naam subah sham jap le,
kul ke devo ka samman kar le.
pittro ka man se tu dhyan dhar le,
kul ke devo ka samman kar le.

desh dishavar jaoge ,
sada inhe sang paoge.
pitro ka pyare gungan kar le.
kul ke devo ka samman kar le.
pittro ka man se tu dhyan dhar le,
kul ke devo ka samman kar le.

पितर देव के भजन लिरिक्स

पित्तरो का मन से तू ध्यान धर ले

पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले।

पित्तरो की ज्योति सवाई है ,करती ये हरदम सहाई है।
ज्योत जला के सुभ काम कर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

कष्टों से हमको बचाते है ,विपदा का भान कराते है।
पितरो की महिमा बखान कर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

मन से जो इनको ध्याता है ,सुख सम्पति वो पाता है।
पितरो का नाम सुबह शाम जप ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

देश दिशावर जाओगे ,सदा इन्हे संग पाओगे।
पितरो का प्यारे गुणगान कर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले।
पितरों का मन से तू ध्यान धर ले ,कुल के देवो का सम्मान कर ले। टेर।
.

keshav madhukar ke bhajan

भजन/Bhajan Title = पितरो का मन से तू ध्यान धर ले
गायक/Singer = = केशव मधुकर
Bhajan Text- भजन

Leave a Comment