मेरे घर के आगे साईनाथ भजन लिरिक्स

मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये ।
जब खिड़की खोलूं तो ,
तेरा दर्शन हो जाये ।

जब आरती हो तेरी ,
मुझे घंटी सुनाई दे ।
मुझे रोज संवेरे साई नाथ ,
तेरी सुरत दिखाई दे ।
मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये। टेर

जब भजन करे मिलकर ,
रस कानों में घुल जाये ।
जब खिड़की खोलूं तो ,
तेरा दर्शन हो जाये ॥
मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये। टेर

आते जाते बाबा ,
तुमको मैं प्रणाम करूं ।
जो मेरे लायक हो ,
कुछ ऐसा काम करूं ।
मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये। टेर

तेरी सेवा करने से ,
मेरी किस्मत खुल जाये ।
जब खिड़की खोलूं तो ,
तेरा दर्शन हो जाये ।
मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये। टेर

नजदीक रहेंगे तो ,
आना जाना होगा ।
हम भक्तों का बाबा ,
मिलना जुलना होगा ।
मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये। टेर

सब साथ रहें बाबा ,
जल्दी वो दिन आये ।
जब खिड़की खोलूं तो ,
तेरा दर्शन हो जाये ॥
मेरे घर के आगे साई नाथ ,
तेरा मन्दिर बन जाये। टेर

sai baba bhajan and video

मेरे घर के आगे साईनाथ mere ghar ke aage sainath tera mandir ban jaye, sai baba bhajan mp3,sai baba bhajan,hindi bhajan with lyrics
भजन :- मेरे घर के आगे सांई नाथ
गायक :- पारस जैन

Leave a Reply