राधिका गोरी से बिरज की छोरी से लिरिक्स

राधिका गोरी से ,
बिरज की छोरी से।
मैया करा दे मेरो ब्याह।

अरे क्या सोचे है माँ मेरी।
उमर तेरी छोटी है ,
नजर तेरी खोटी है।
कैसे करा दू तेरो ब्याह।
राधिका गोरी से ,
बिरज की छोरी से।
मैया करा दे मेरो ब्याह।

जो ना ब्याह करावे ,
तेरी गैया ना ही चरावु। २
आज के बाद ओ मैया ,
तेरी दहेली पर ना आउ। २
आएगा रे मजा ,रे मजा।
अब जीत हार का।
राधिका गोरी से ,
बिरज की छोरी से।
मैया करा दे मेरो ब्याह।

चन्दन की चौकी पे ,
मैया तुझको बैठाऊ। २
अपनी राधा से में ,
माँ चरण तेरे दबवाऊ। २
भोजन में बनवाउगो ,बनवाउगो।
छप्पन प्रकार के।
राधिका गोरी से ,
बिरज की छोरी से।
मैया करा दे मेरो ब्याह।

छोटी सी दुल्हनिया ,
जब आँगन में डोलेगी। २
तेरे सामने मैया ,
वो घुंगट ना खोलेगी। २
गांव से जा कहो ,जा कहो।
बैठेंगे द्वार पे।
राधिका गोरी से ,
बिरज की छोरी से।
मैया करा दे मेरो ब्याह।

सुन बाते काना की ,
मैया बैठी मुस्काये। २
ले के बलाईया मैया ,
हिवड़े से अपने लगाये। २
नजर कही लग जाये ना।
मेरे लाल को। २
राधिका गोरी से ,
बिरज की छोरी से।
मैया करा दे मेरो ब्याह।

राधिका गोरी से बिरज की छोरी से लिरिक्स radhika gori se biraj ki chori se krishna bhajan with lyrics

Leave a Reply