शिव शंकर चले कैलाश बुंदिया पड़ने लगी भजन लिरिक्स

शिव शंकर चले कैलाश बुंदिया पड़ने लगी भजन लिरिक्स
, Shiv Shankar Chale Kailash Bhajan Lyrics

शिव शंकर चले कैलाश भजन लिरिक्स

शिव शंकर चले कैलाश ,
की बुंदिया पड़ने लगी।
भोले बाबा चले कैलाश ,
की बुंदिया पड़ने लगी।

गोराजी ने बोई हरी हरी महेंदी ,
भोले बाबा ने बोई भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,
शिव शंकर चले कैलाश। टेर

गोराजी ने काटी हरी हरी मेहंदी ,
भोले बाबा ने काटी है भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,
शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

गोराजी ने पीसी हरी हरी मेहंदी ,
भोले बाबा ने पीसी है भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,
शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

गोराजी की रच गई हरी हरी महेंदी ,
भोले बाबा को चढ़ गई भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,
शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

See This Lyrics also:   बजरंगबली तेरा हम दर्श अगर पाएं भजन लिरिक्स

Shiv Shankar Bhajan Hindi Lyrics

Shiv Shankar Chale Kailash

shiv shanakr chale kailash,
ki bundiya padne lagi.
bhole baba chale kailash,
ki bundiya padne lagi.

goraji ne boi hari hari mahendi,
bhole baba ne boi bhang.
ki bundiya padne lagi,
shiv shankar chale kailash. ter
.

goraji ne kati hari hari mehandi,
bhole baba ne kati hai bhang.
ki bundiya padne lagi,
shiv shankar chale kailash. ter
.

goraji ne pisi hari hari mehandi,
bhole baba ne pisi hai bhang.
ki bundiya padne lagi,
shiv shankar chale kailash. ter
.

goraji ki rach gai hari hari mehandi,
bhole baba ko chadh gai bhang.
ki bundiya padne lagi,
shiv shankar chale kailash. ter
.

शिव शंकर हिंदी भजन लिरिक्स

शिव शंकर चले कैलाश

शिव शंकर चले कैलाश ,की बुंदिया पड़ने लगी।
भोले बाबा चले कैलाश ,की बुंदिया पड़ने लगी।

गोराजी ने बोई हरी हरी महेंदी ,भोले बाबा ने बोई भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

See This Lyrics also:   लग गईया जिस दिया मुरार नाल अखियां, भजन लिरिक्स | Bhajan Lyrics

गोराजी ने काटी हरी हरी मेहंदी ,भोले बाबा ने काटी है भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

गोराजी ने पीसी हरी हरी मेहंदी ,भोले बाबा ने पीसी है भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

गोराजी की रच गई हरी हरी महेंदी ,भोले बाबा को चढ़ गई भांग।
कि बुंदिया पड़ने लगी ,शिव शंकर चले कैलाश। टेर।

Tripti Shaqya Bhajan Lyrics

भजन/Bhajan Title = बुंदिया पड़ने लगी
गायिका :- तृप्ति शाक्य
Bhajan Text- भजन

Leave a Comment