थे मारा शिवजी भोला घणा भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
लाल नेत्र गोरा बदन, भस्मी रमावे अंग।
शिव जी थारी जटा में, बह रही है गंग।

थे म्हारा शिवजी भोला गणा ,
लागो प्यारा घणा।
थारो मंदिर चुणाय दू पहाड़ा में।
मिन्दर चुणाय दू पहाड़ा में,
दुनिया आवे दर्शन ने।

थारा मेला सावन लाग रिया ओ ,
शिव जी लाग रिया।
भगत सोम ने आय रिया ,
थारे बिल पत्र चढ़ाय रिया।
थे म्हारा शिवजी भोला गणा ,
थारो मंदिर चुणाय दू पहाड़ा में। टेर।

जती सती सब ताप रिया ,
ओ शिवजी ताप रिया।
अखंड धुणा लाग रिया ,
छोगाला सब नाच रिया।
थे म्हारा शिवजी भोला गणा ,
थारो मंदिर चुणाय दू पहाड़ा में। टेर।

सोने रा छत्र चढ़ा रिया ,
ओ शिवजी चढ़ा रिया।
चांदी रा पाट जड़ाय रिया ,
थारे केसर चन्दन लगा रिया।
थे म्हारा शिवजी भोला गणा ,
थारो मंदिर चुणाय दू पहाड़ा में। टेर।

डम डम डमरू बाज रिया ,
ओ शिवजी बाज रिया।
अनहद नाद सुनाय रिया ,
झालर शंख बजाय रिया।
थे म्हारा शिवजी भोला गणा ,
थारो मंदिर चुणाय दू पहाड़ा में। टेर।

आरती सब गाय रिया ,
ओ शिवजी गाय रिया।
हिये सु जोत जगा रिया ,
माली छंवर जस गाय रिया।
थे म्हारा शिवजी भोला गणा ,
थारो मंदिर चुणाय दू पहाड़ा में। टेर।

bhagwat suthar ke bhajan

थे मारा शिवजी भोला घणा भजन लिरिक्स, the mara shivji bhola gana shivji bhajan lyrics in hindi
भोलेनाथ जी के भजन लिरिक्स
भजन :- थे शिवजी मारा भोळा घना
गायक :- भगवत सुथार

Leave a Reply